5:02 pm - Monday May 29, 2017

रेलवे-भर्ती-नौकरी 2017 खुल रहे हैं रेलवे में नौकरी के हजारों दरवाजे

indian-railway-jobs-2017रेलवे भर्ती 2017 / 2018| रेलवे नौकरी 2017 | रेलवे भर्ती ग्रुप डी आप नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके विस्तार में जॉब के जानकारी प्राप्त सकते हैं.

भारतीय रेलवे में खुलेगा नौकरी का पिटारा, 10वीं पास की बंपर भर्ती

लगभग 13.34 लाख कर्मचारियों के साथ रेलवे देश का सबसे बड़ा सरकारी नियोक्ता है। इतना ही नहीं विश्व के शीर्ष नियोक्ताओं की सूची में भी यह शामिल है। पिछले वर्ष वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम की रिसर्च में दुनिया के टॉप एम्प्लॉयर्स की लिस्ट में भारतीय रेलवे लगभग 14 लाख कर्मचारियों के साथ आठवें स्थान पर पाया गया। 2010 की फॉर्च्यून व द इकोनॉमिस्ट की रिपोर्ट में भी भारतीय रेलवे दुनिया के सबसे बड़े नियोक्ताओं की सूची में आठवें स्थान पर था।

  • 10वीं से लेकर उच्चतम योग्यता के लिए हैं मौके
प्रोफेशनल ग्रोथ के अवसर :- हर साल रेलवे भारी मात्रा में भर्तियां करता है। अकेले 2012/13 में रेलवे ने अतिरिक्त 156,000 कर्मचारियों की भर्ती की जिनमें 8,500 (ग्रुप ए) ऑफिसर्स शामिल थे। प्रोफेशनल ग्रोथ के लिए भी यहां अच्छे मौके ह। 1980 के दशक के बीच रेलवे ने अपने ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू किए थे और आज ऑफिसर्स के लिए 7 ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट उपलब्ध हैं। इसके अलावा नॉन गैजेटेड स्टाफ के लिए 270 से ज्यादा ट्रेनिंग सेंटर्स हैं। हर साल करीबन 3 लाख 20 हजार स्टाफ मेंबर्स और 7500 ऑफिसर्स प्रशिक्षण के लिए जाते हैं। इसके अलावा हर साल करीबन एक लाख कर्मचारी रिफ्रेशर कोर्सेज के लिए जाते हैं।
आईआईटी, आईआईएम से लेकर विदेश में ट्रेनिंग:-
भारतीय रेलवे में सात सेंट्रलाइज्ड ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट्स (सीटीआई) हैं। जबकि छह अन्य सीटीआई मुख्य रूप से विशिष्ट क्षेत्र के अधिकारियों को प्रशिक्षण देते हैं। ऑफिसर्स के लिए अलग-अलग स्तरों पर भारतीय रेलवे कई बेहतरीन ट्रेनिंग प्रोग्राम उपलब्ध करवाता है जहां आईआईटी, आईआईएम से लेकर प्रतिष्ठित विदेशी संस्थानों से उम्दा प्रशिक्षण हासिल किया जा सकता है। इसके तहत एक से दो साल की सर्विस के बाद सीटीआई में प्रोबेशनरी ट्रेनिंग से लेकर अनुभव में बढ़ोतरी के बाद विदेशी संस्थानों में ट्रेनिंग उपलब्ध करवाई जाती है। उदाहरण के तौर पर 12 साल तक के अनुभव वाले कर्मचारियों को संबंधित सीटीआई भेजा जाता है।
15-18 साल के अनुभवियों को एनएआईआर, वडोदरा भेजा जाता है। जिसके बाद सिंगापुर के प्रतिष्ठित बिजनेस स्कूल इनसीड और कुआलालम्पुर में लीडरशिप ट्रेनिंग सेंटर आईसीएलआईएफ में प्रशिक्षण दिया जाता है। डिप्टी रीजनल मैनेजर लेवल तक पहुंचने वालों को पेरिस के बिजनेस स्कूल एचईसी भेजा जाता है। अलग-अलग तरह की प्रतिभाओं को पोषित करने का विकल्प भी यहां उपलब्ध है। फिल्म मेकिंग में दिलचस्पी रखने वाले उम्मीदवार रेलवे पर डॉक्यूमेंटरी बना सकते हैं। वैज्ञानिक रुझान होने पर लखनऊ स्थित रिसर्च डिजाइन एंड स्टैंडर्ड्स ऑर्गनाइजेशन से जुड़ा जा सकता है।
कमी है काबिल कर्मियों की :- रेलवे, कर्मचारियों की कमी से भी गुजर रहा है। 2012 के सरकारी आंकड़ों के अनुसार इस वर्ष में रेलवे में 2.1 लाख पद खाली पाए गए, जिनमें सेफ्टी पोस्ट्स के साथ-साथ वर्कशॉप्स, कॉमर्शियल सेक्शन, पैरामेडिकल व ऑफिस स्टाफ में बड़ी संख्या में वैकेंसी थीं। सातवें वेतन आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक जनवरी 2014 तक 235,527 वैकेंसी के साथ रेल मंत्रालय में मैनपावर की 15 प्रतिशत कमी पाई गई।
Filed in: Jobs, Railway Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!