1:23 pm - Thursday December 8, 2016

सेना में शामिल होना है तो देखिए, बदल गए हैं भर्ती के नियम

army-recruitment_1479415486भारतीय सेना में भर्ती के नियम बदल गए हैं, 13 कुमायूं रेजिमेंट के मेजर जनरल ने इस का खुलासा किया है। 13 कुमायूं रेजिमेंट के मेजर जनरल अजय आहरी (एसएम एडीजी इनफैंट्री) ने कहा कि अब शारीरिक परीक्षा से पहले कंप्यूटर पर लिखित परीक्षा देनी होगी। इसका परिणाम भी थोड़ी देर बाद आ जाएगा।

शुक्रवार को देश के सर्वाधिक सैनिक देने वाले अहीरवाल के रेवाड़ी जिले में रेजांगला शौर्य सम्मान समारोह में आए मेजर जनरल ने दैनिक एक्स्प्रेस से विशेष बातचीत में कहा कि अब सेना भर्ती में भी तकनीक को बढ़ाया जाएगा। थल सेना की भर्ती में पहले दौड़ करवाते थे। अब पहले कंप्यूटर लिखित परीक्षा कराने का मसौदा तैयार हो चुका है। लिखित परीक्षा में पास अभ्यर्थियों को दौड़ और बाद में मेडिकल होगा। शीघ्र ही इसकी घोषणा कर दी जाएगी।

मेजर जनरल ने कहा कि यह भी विचार चल रहा है कि पढ़ाई-लिखाई के अनुसार ही सेना में तनख्वाह मिले, जो जितना अधिक पढ़ा-लिखा होगा उसे उतनी ही अधिक तनख्वाह दी जाएगी। मेजर जनरल आहरी ने कहा कि सैनिकों में कला तराशनी जरूरी है। स्किल डेवलपमेंट मिनिस्ट्री के तहत प्रत्येक सैनिक को सर्टिफिकेट कोर्स जरूरी कराया जाएगा। इससे नौकरी के बाद सैनिक को रोजगार पाने में दिक्कत नहीं होगी।

13_1479481057मेजर जनरल ने कहा कि 13 कुमायूं रेजिमेंट के 114 जवान 1662 के युद्ध में चीन को अपना वीरता का लोहा मनवा चुके हैं। उस समय भारत-चीनी भाई-भाई का नारा देकर हमारे साथ धोखा हुआ था। हमें संकल्प लेना है कि अब धोखे में नहीं आएंगे। हमारे 114 जवानों ने शहादत देकर चीन के आधुनिक हथियारों से लैस 2000 सैनिकों को मार गिराया था।

देश की जनता सुरक्षा का भार सेना के कंधों पर छोड़ चैन से रहे। बॉर्डर पर हमेशा हालात ऐसे ही रहते हैं। पहले भी ऐसी ही स्थिति थी लेकिन अब सूचना तंत्र मजबूत होने के कारण बॉर्डर की हर गतिविधि लोगों तक पहुंच जाती है। उन्होंने 1662 के युद्ध को शायराना अंदाज में बयां करते हुए कहा कि ‘थी खून से लथपथ काया फिर बंदूक उठाकर एक-एक ने मारा’।

Filed in: Exam Guide

No comments yet.

Leave a Reply

*
error: Content is protected !!