8:22 pm - Thursday April 27, 2017

जाट आरक्षण पर फैसले को लेकर CM खट्टर का बड़ा बयान, लोगों से अपील

जाटों को आरक्षण देने के मामले में फैसले पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने बड़ा बयान दिया और साथ ही लोगों से खास अपील भी की। आरक्षण का मामला अब कोर्ट में विचाराधीन है। इसलिए अब कोर्ट ही इस पर फैसला करेगा। इन बातों का उल्लेख राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की दो दिवसीय प्रांत कार्यकारिणी की बैठक और सूरजकुंड मेले की तैयारियों का जायजा लेने के बाद मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने यहां किया।

उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को अपनी बात शांतिपूर्वक तरीके से रखने का अधिकार है लेकिन किसी को भी कानून हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। मुख्यमंत्री ने रविवार को सेक्टर-16 सर्किट हाउस में पत्रकारों से बात करते हुए बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान के 2 साल पूरा होने पर संतोष जताया। सीएम ने कहा की संबंधित विभाग के अधिकारियों और सामाजिक संगठनों ने इस मामले में सार्थक भूमिका निभाई है।

जाट आंदोलन : राज्य सरकार ने केंद्र से मांगी सुरक्षा बलों की 55 कंपनियां

हरियाणा की खट्टर सरकार ने बीते साल के जाट आंदोलन से सबक लेते हुए कानून-व्यवस्था चाक-चौबंद करने की दिशा में कदम बढ़ा दिए हैं। सरकार ने जाट आंदोलन के मद्देनजर केंद्र सरकार से सुरक्षा बलों की 55 कंपनियां मांगी हैं।

गृह सचिव रामनिवास ने बताया कि आरक्षण को लेकर 29 जनवरी से प्रस्तावित धरनों के दौरान वीडियोग्राफी कराई जाएगी। प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए धरनों के मद्देनजर जिला मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं।

सुरक्षा बलों की कंपनियां मांगने के साथ ही 7000 होमगार्ड के जवान तैनात करने के लिए कॉल आउट नोटिस दिया गया है।

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!