3:11 pm - Thursday November 22, 7060

भाजपा महिला नेता ने कबूला- नौकरी के नाम पर डेढ़ लाख लिए, 1.10 लाख दुग्गल के पीए सतपाल बाजीगर को दिए

सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर भाजपा पदाधिकारियों द्वारा रुपए लेने का मामला पुलिस तक पहुंच गया है। इसकी जांच भी शुरू हो गई है। मामले की एक आरोपी भाजपा महिला मोर्चा ग्रामीण मंडल सचिव रजनी देवी को शनिवार को पूछताछ के लिए महिला थाने बुलाया गया। इस दौरान रजनी ने राेते -रोते स्वीकार किया कि उसने सरकारी नौकरी लगवाने के नाम पर एक युवक से डेढ़ लाख रुपए लिए थे। आरोप लगाया कि ये रुपए उसने हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम की चेयरमैन सुनीता दुग्गल के पीए सतपाल बाजीगर के कहने पर लिए थे। 1.10 लाख रुपए सतपाल को दिए थे, जो उसने नौकरी दिलाने के लिए मांगे थे। बाकी के 40 हजार बीमारी के इलाज के लिए अपने पास रख लिए थे। इस बात के लिए महिला पदाधिकारी ने लिखित शपथ पत्र भी दिया है। महिला थाना एसएचओ बिमला देवी ने बताया कि शिकायत के बाद मामले में तथ्य जुटाए जा रहे हैं। उधर, सिरसा लोकसभा निगरानी कमेटी के संयोजक भारत भूषण मिड् ढा ने भी मामले की जांच शुरू कर दी है।

लघु सचिवालय में हुई थी डील :- निगरानी कमेटी को दिए बयान में महिला पदाधिकारी ने बताया कि पूरी डील लघु सचिवालय में हुई थी। रुपए लेने के बाद सतपाल बाजीगर ने उसे लघु सचिवालय में बुलाया था, जहां डील के रुपए उसे दिए गए। कमेटी ने महिला पदाधिकारी द्वारा बताई तमाम जगहों पर जाकर देखा। अब पुलिस व कमेटी के सदस्य गहनता से जांच कर रहे हैं।

बाजीगर ने धमकी दी- नाम लिया तो पति को नौकरी से हटवा दूंगा

रजनी ने रुपए लेने की बात तो मानी, लेकिन कहा कि रुपए सतपाल बाजीगर ने लिए हैं। मैंने जो रखे थे, वह दे दूंगी। रोते हुए कहा कि वह हार्ट की मरीज है। आरोप लगाया कि सतपाल की ओर से बार-बार धमकी दी जा रही है कि नाम लिया तो वह उसके पति को नौकरी से हटवा देगा। रजनी का पति रतिया इलाके में एक सरकारी कार्यालय में डीसी रेट पर लगा हुआ है।

^पुलिस जांच में सतपाल पर महिला पदाधिकारी ने आरोप लगाए हैं। पीए वाली जो बात है, ऐसा कुछ नहीं है। जब शहर में कार्यक्रम होता है तो वह उसको कभी-कभार देखता है। जो दोषी पाया जाए। उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई हो।-सुनीता दुग्गल, चेयरपर्सन, हरियाणा अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास निगम

आरोप गलत और निराधार हैं। मुझे राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया जा रहा है।-सतपाल बाजीगर, पीए, सुनीता दुग्गल

पूछताछ में महिला पदाधिकारी ने किसका नाम लिया है। वह सत्य है या नहीं है। इसकी जांच पुलिस कर रही है। मामले में महिला पदाधिकारी दो-तीन बार मेरे पास जरूर आई। उन्होंने लिखित और मौखिक में अपना पक्ष रखा है।-भारत भूषण मिड्ढा, संयोजक, सिरसा लोकसभा निगरानी कमेटी

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!