3:27 pm - Tuesday May 28, 6858

10वीं योग्यता वाली ड्राइवर भर्ती में बीएससी पास भी पहुंचे, 54 में से 34 डग टेस्ट में फेल

रोडवेज विभाग ने यूं तो बस ड्राइवर की भर्ती के लिए 10वीं पास युवाओं से आवेदन मांगे थे, लेकिन बस ड्राइवर बनने की चाह लिए ग्रेजुएट पोस्ट ग्रेजुएट पास युवाओं ने भी आवेदन कर रखा है। न्यू बस स्टैंड वर्कशॉप में रोजाना 20 फीसदी स्नातक पास युवा ड्राइविंग दक्षता टेस्ट देने पहुंच रहे हैं। शुक्रवार को भी कमोबेश यही नजारा देखने को मिला। 60 उम्मीदवारों को टेस्ट में शामिल होने के लिए बुलाया गया था, लेकिन 54 युवाओं ने ही उपस्थिति दर्ज कराई, जिसमें 20 के करीब युवा ग्रेजुएट पोस्ट ग्रेजुएट तक की पढ़ाई पूरी करने वाले थे। प्रक्रिया के पहले चरण में 34 उम्मीदवार डग टेस्ट में फेल हो गए। पहले टेस्ट में पास हुए 20 युवाओं ने 8 के आकार में बस को फ्रंट और बैक में चलाकर दिखाया। यह प्रक्रिया देर शाम तक चलती रही। आठ कैमरों की निगरानी में प्रक्रिया चल रही है।

वैसे तो रोडवेज के विज्ञापन में चालकों के लिए शैक्षणिक योग्यता 10वीं पास रखी गई है, लेकिन यहां पर बीए बीएससी करने वाले उम्मीदवार भी पहुंच रहे हैं। रोडवेज में चालक भर्ती के लिए रोहतक सेंटर पर 702 उम्मीदवारों का टेस्ट लिया जाना है। यहां 15 दिसंबर तक चलने वाले ड्राइविंग टेस्ट में रोजाना 60 उम्मीदवारों का टेस्ट लिया जाएगा।

होटल मैनेजमेंट का कोर्स डाइट से भी की है पढ़ाई
दिल्लीसे आए दीपक छिल्लर ने बताया कि वह ग्रेजुएट है और होटल मैनेजमेंट डाइट से पढ़ाई कर रखी है। मेरा रुझान सरकारी नौकरी की आेर होने की वजह से मैंने हरियाणा रोडवेज में चालक पद के लिए आवेदन कर दिया। इस समय मैं एंबुलेंस चलाने का काम कर रहा हूं। आवेदन करने के बाद बुलावा गया तो यहां टेस्ट देने पहुंचा है।

ग्रेजुएट पास अभ्यर्थियों ने भी किए हैं आवेदन
चयनबोर्ड से आए आब्जर्वर हरिकिशन ने बताया कि विभाग ने 10वीं पास शैक्षणिक योग्यता रखी थी, लेकिन अब ग्रेजुएट कर चुके अभ्यर्थियों ने भी आवेदन किए हैं तो उन्हें मना कैसे किया जा सकता है। यहां जो ड्राइविंग टेस्ट में सफल होगा, उसे लिखित परीक्षा देकर आगे की प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा। यहां भी ग्रेजुएट पास किए हुए युवा ड्राइवर बनने के लिए टेस्ट देने रहे हैं।

हेवी वाहन चलाने की ट्रेनिंग
बहादुरगढ़से आए ग्रेजुएट विकास ने बताया कि उसने वर्ष 2014 में स्नातक तक की पढ़ाई पूरी कर ली थी। इसके बाद आईडीटीआर से भारी वाहन चलाने की ट्रेनिंग ली। लंबाई अच्छी हाेने की वजह से सेना में भर्ती के लिए भी प्रयास कर रहा हूं। परिवहन विभाग में चालकों की स्थायी नियुक्ति का पता चला तो आवेदन कर दिया। किस्मत ने साथ दिया तो चालक बन जाऊंगा।
सैन्यकर्मी ने दिया ड्राइविंग दक्षता टेस्ट
सैन्यकर्मी सार्जेंट पद पर कार्यरत संदीप कौशिक ने बताया कि जून 2018 में रिटायरमेंट है। ग्रेजुएट तक की पढ़ाई कर चुका है। बैंक में क्लर्क पद की भी तैयारी कर रहा हूं। अब क्योंकि 20 साल से ड्राइविंग का अनुभव है तो मैंने रोडवेज विभाग में ड्राइवर के लिए आवेदन कर दिया। यहां टेस्ट देने आया हूं तो उम्मीद है कि चयन हो जाना चाहिए।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!