2:41 pm - Tuesday April 17, 2018

क्लर्कों को बनाया बलि का बकरा, बड़ी मछलियों को छोड़ दिया: जयहिंद

आम आदमी पार्टी की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष नवीन जयहिंद ने आज आरोप लगाया कि हाल में प्रदेश में सामने आए भर्तियों में घोटाले में कुछ क्लर्कों को बलि का बकरा बनाकर हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एचएसएससी) के अध्यक्ष और सदस्यों को बचा लिया गया है। जयहिंद ने आज यहां जारी बयान में दावा किया कि उनकी पार्टी ने सबसे पहले हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन के घोटाले को दो साल पहले उजागर किया था।

आप नेता ने इस घोटाले को युवाओं से धोखा करार देते हुए आरोप लगाया कि एचएसएससी के सदस्यों के रूप में ‘अयोग्य’ लोगों को चुनने से लेकर इंटरव्यू के अंककम करने का झूठा प्रचार किया गया, जबकि वास्तविकता यह थी कि 200 अंक की लिखित परीक्षा पर पहले भी इंटरव्यू के 25 अंक होते थे। एचएसएससी चैयरमैन की रिश्वत के लेन-देन से सम्बंधित फोन रिकॉर्डिंग खुलेआम सोशल मीडिया में वाइरल हो जाने के बाद भी आप विधानसभा में सदन को जांच का आश्वासन देकर मामले को दबा गए।

जयहिंद ने आरोप लगाया कि आरोप लगे होने के बावजूद एचएसएससी चैयरमैन को गुपचुप तरीके से ‘बैक डेट’ में सेवा विस्तार दे दिया। आप नेता ने कहा कि इस दौरान विभिन्न परीक्षाओं के प्रश्नपत्र लीक होते रहे, पर मनोहर लाल खट्टर सरकार ने कभी मुद्दे को गंभीरता से नहीं लिया। उन्होंने कहा कि इसके अलावा विभिन्न बहानों से भर्तियां लटकाई गई, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के तीन वर्ष पूर्व भर्तियों में इंटरव्यू खत्म करने की घोषणा के बावजूद इस व्यवस्था को बनाए रखा गया और अब अधिकतर भर्तियां होने के बाद इसे खत्म करने की घोषणा की गई है। जयहिंद ने आरोप लगाया कि 20 लाख युवाओं से फॉर्म भरवाने के नाम पर 200 करोड़ लूट लिए गए।

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र  दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

 

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!