3:24 pm - Thursday April 22, 8230

अॉडियो वायरल मामले पर बढ़ा विवादः विधानसभा में कांग्रेस और इनेलो का हंगामा

पूर्व कृषि मंत्री बलबीर सैनी और पिहोवा नगर पालिका चेयरमैन अशोक सिंगला की बातचीत के वायरल अॉडियो पर विवाद बढ़ता जा रहा है। सोमवार को इस अॉडियो पर सदन के अंदर और बाहर दोनों जगह हंगामा हुआ। इनेलो और कांग्रेस ने सदन के अंदर इस मामले पर जमकर हंगामा किया। हंगामा होता देख विधानसभा अध्यक्ष ने पहले इनेलो विधायकों और फिर कांग्रेस विधायकों को सदन से बाहर करवा दिया। बता दें कि बातचीत का एक अॉडियो रविवार को वायरल हुआ था, जिसमें सिंगला कह रहे हैं कि नपा चेयरमैन बनवाने के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती के बेटे को 45 लाख रुपए दिए। पढ़िए क्या बोले इनेलो नेता अभय चौटाला…

– अभय चौटाला ने कहा कि अगर बीजेपी के नेता ही एक दूसरे पर भ्रष्टाचार के आरोप लगा रहे हैं तो सीएम को इसकी जांच करवानी चाहिए और कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन ये कार्रवाई नहीं कर रहे, ये उन्हें बचाने में लगे हुए हैं।
– उन्होंने कहा कि सीएम ने इस वायरल अॉडियो मामले में कहा कि हम जांच करेंगे। वे ये बताने को तैयार नहीं है कि किस एजेंसी के माध्यम से जांच करेंगे।
– अभय चौटाला व उनके विधायकों ने सदन के अंदर और बाहर नारेबाजी की। सदन से बाहर निकाल दिए जाने के बाद उन्होंने कहा कि वे सही सवाल उठा रहे थे तो उन्हें बाहर कर दिया गया।
– वहीं कांग्रेस ने भी सदन में इस मामले पर कार्रवाई करने और सीबीआई जांच करवाने की मांग की है।

पिहोवा में आम आदमी पार्टी ने किया प्रदर्शन
– इस मामले पर पिहोवा के अंदर आम आदमी पार्टी ने भी प्रदर्शन किया और पूतला फूंका।

ये था पूरा मामला

– अॉडियो वायरल होने के बाद देवीलाल सरकार में कृषि मंत्री रहे (अब भाजपा में) बलबीर सैनी ने माना कि करीब एक साल पहले सिंगला ने उनके सामने यह बात कबूली थी। तब शायद किसी ने रिकॉर्डिंग कर ली।
– एक साल बाद यह किसने और क्यों वायरल की नहीं पता। वे तो अपनी बात पार्टी फोरम पर यह बात रखेंगे साथ ही अॉडियो वायरल करने वाले के खिलाफ पुलिस में शिकायत देंगे।
– सितंबर 2016 में सिंगला नपा चेयरमैन बने थे। वहीं, अशोक सिंगला की ओर से एक अॉडियो जारी कर सफाई दी गई। जिसमें कहा-पूर्व मंत्री ने राजनीतिक कारणों से यह ऑडियो जानबूझकर रिकॉर्ड कराया।
– मुझे शराब पिलाकर पूर्व मंत्री ने अपने स्वार्थों के लिए यह बात कहलवाई। चेयरमैन बनने के लिए किसी को कोई पैसा नहीं दिया। पार्षदों ने मतदान करके प्रधान चुना।
– पूर्व मंत्री मेरे साथ फैक्ट्री में हिस्सेदार थे। एक दिन मंत्री ने मुझे बुलाकर शराब पिलाई और कहा कि उनका एमपी का टिकट फाइनल हो गया है और वह विधायक का टिकट मुझको दिलवा देंगे। लेकिन भारती के खिलाफ कुछ बोलना होगा। मैं मंदिर में भी यह बात कहने का तैयार हूं।

14 मिनट की अॉडियो के कुछ अंश
– बलबीर सैनी-
तुम्हें प्रधान पैसे देकर बनाया है
– अशोक सिंगला- हां दिए हैं।
– सैनी- शहर में तो एक करोड़ की बात चल रही है, तू बस पचास- साठ लाख बता रहा है
– सिंगला- 3 मेंबरों को 10- 10 लाख दिए हैं
– सैनी- भारती के लड़के को कितने दिए, सच-सच बताना।
– सिंगला- उसको अलग से 45 लाख दिए हैं।
– सैनी- 75 लाख लगा कर क्या कमा लेगा। मैं होता तो ठोकर मारता ऐसी प्रधानी पर। जब प्रधानगी के चक्कर में 75 लाख तेरे से लगवा दिए तो बाकी किसको छोड़ेंगे, किसी और को भी दिए हैं क्या।
– सिंगला- मेरा पैसा तो मुझे पता है कहां गया।
– सैनी-अच्छा। छोरे की ससुराल में गया होगा।
– सिंगला-हां मैं बुलेट पर पैसा लेकर आया था रात को, मैंने पैसे देकर उनका पीछा किया। भारती के लड़के के ससुराल बराड़ा में पैसा पहुंचा।
– सैनी- मैं धनखड़ या किसी बड़े नेता से बात करूंगा, इस बारे।
– सिंगला- ना-ना मंत्री जी मत करना, मैं नहीं कहूंगा कि मैंने पैसा दिया, मैंने तो पैसे दिए ही नहीं।
– सैनी- सरकार इतनी पारदर्शिता है, अगर यह बात खट्टर जी को पता चल गई तो इनको छोड़ेंगे नहीं। वो तो भारतभूषण को इमानदार समझते हैं और ये देखो क्या कर रहे हैं।
– सिंगला- चलो मंत्री जी भाषण मत दो, जो होना था हो गया।
– सैनी -क्या भारती को इस बात का पता है?
– सिंगला- पता है जी, भारती और मैं बंद कमरे में थे। कहा था कि बात उन पर छोड़ो। मैंने भी कहा कि गर्दन कट जाएगी, बात बाहर नहीं जाएगी
– सैनी-फेर तो ये नौकरी में भी पैसे लेते होंगे। इंटरव्यू के पांच-सात नंबर इनके हाथ हैं।
– सिंगला-छोरा सुशांत लेवा, डीसी रेट पर 50-50 हजार रुपए लिए, हालांकि दाे के पैसे वापस भी करे, वे आपके बंदे थे।
– सैनी-दो साल बात पता चलेगा। मिट्‌टी कुटेगी, लोगों ने गोली देंवा हैं। इसके बाद बातचीत बंद हो जाती है।
(इसमें मंत्री सिंगला को बार-बार टटोलते सुन रहे हैं जबकि किसी तीसरे की भी बीच में आवाज है।)
बलबीर सैनी अशोक सिंगला

भारती रहे आउट अॉफ रीच, बेटा बोला- यह राजनीतिक चाल
– इस बारे में एचएसएससी चेयरमैन भारत भूषण भारती से पिहोवा व पंचकूला स्थित आवास में और फोन पर संपर्क नहीं हुआ। हालांकि उनके बेटे सुशांत भारती ने कहा कि अॉडियो में दो लोग बात कर रहे हैं।
– फर्जी रिकॉर्डिंग कर कोई किसी को भी बदनाम करने की साजिश कर सकता है। नपा प्रधान ने खुद माना है कि पूर्व मंत्री के बहकावे में आकर विधायक का टिकट पाने के चक्कर में यह शराब के नशे में अॉडियो रिकॉर्ड किया है।
– उन्होंने न तो प्रधान के चुनाव में कोई हस्तक्षेप किया और न ही परिवार का अॉडियो से कोई लेना-देना है। यह सब राजनीतिक चाल है।

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र  दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

 

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!