8:10 am - Monday September 25, 2017

कोर्ट से मिल जाता हैं बेरोजगार युवको को इन्साफ लेकिन भ्रष्ट दोषी अधिकारियों नेताओं को सजा क्यों नहीं?

कोर्ट से मिल जाता हैं बेरोजगार युवको को इन्साफ लेकिन भ्रष्ट दोषी अधिकारियों नेताओं को सजा क्यों नहीं?

बेरोजगार युवक हमारे समाज में आज भी अक्सर भेदभाव का शिकार होते हैं। उन्हें सरकारी नौकरी के लिए मानसिक हिंसा झेलनी पड़ती है। बेरोजगार युवको का मूकदर्द समझते हुए एक कवि ने लिखा है –

हमने न हाय जाना, सुख-चैन क्या ख़ुशी क्या है

रात उम्रभर की, मेरी ज़िंदगी क्या ।

दिल पूछता है मेरा, है कौन ये लुटेरा ।

ये कैसा न्याय तेरा, दीपक तले अँधेरा

न्यायपालिका की सुस्त कार्यशैली एवं इसमें बढ़ते भ्रष्टाचार आदालतों की छवि को धूमिल कर रहे।  इस तरह के फैसले होने पर जनता में न्यायापालिका पर अविश्वास होने लगता है ।

कोर्ट से मिल जाता हैं बेरोजगार युवको को इन्साफ लेकिन भ्रष्ट दोषी अधिकारियों को सजा क्यों नहीं? जनमानस को समझ में नहीं आ रहा है ? कहीं-कहीं गड़बड़ तो जरूर है ? क्या लगता है देश में सब ठीक हो रहा है ? क्या लोकतंत्र के चारों स्तम्भ (कार्यपालिका, विधायिका, न्यायापालिका व मीडिया) बिलकुल ठीक है ? सभी गलत भी नहीं हो सकते है लेकिन कुछ गलत तो है । इसे कौन ठीक करेगा ? हमलोगों को ही इसके लिए प्रयास करना होगा । नहीं तो इसका शिकार हम,आप या आपके परिवार व संबंधी में कोई भी हो सकता है फिर आप भी कोर्ट या जेल का चक्कर काटते नजर आते रहेंगे ? इसलिए सावधान रहिये, और देश को तोड़ने की गहरी साजिश का फर्दाफाश किजिए ।

ये घटनाएं बयां करती हैं  भ्रष्ट दोषी अधिकारियों को सजा नहीं आप खुद ही बताइए क्या ये सवाल सही नहीं है?

  • हरियाणा पुलिस भर्ती शारीरिक जांच परीक्षा में लापरवाह दोषी अधिकारियों को सजा क्यों नहीं?
  • क्लर्क भर्ती पर्चा लीक मामले में दोषी अधिकारियों को सजा क्यों नहीं?
  • फिशरमैन भर्ती मामले में भ्रष्ट दोषी अधिकारियों नेताओं को सजा क्यों नहीं?

जब तक भ्रष्ट दोषी अधिकारियों को सजा नहीं मिलेगी तब तक पेपर लीक ,भर्तीयो में भ्रष्टाचार, भर्तीयो पर कोर्ट केस होते रहेंगे।  इस तरह के फैसले होने पर जनता में न्यायापालिका पर अविश्वास होने लगता है ।

आखिर क्यों भ्रष्ट दोषी अधिकारियों नेताओं को सजा देने में हमारी न्यायापालिका अपंग हो जाता है ?

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!