11:22 am - Thursday August 17, 2017

लिपिक पद पर प्रमोट हुए कर्मियों के लिए सुनहरा मौका, जल्दी से लपक लिजिए

चतुर्थ श्रेणी से लिपिक पद पर प्रमोट हुए कर्मचारियों को सरकार ने एक बड़ा ही सुनहरा मौका दिया है। जल्दी से लपक लिजिए, वरना डिमोट हो जाएंगे। हरियाणा सरकार ने उन कर्मियों को आखिरी मौका देने का निर्णय लिया है, जिन्होंने अब तक कंप्यूटर एप्रीशिएशन एवं एप्लिकेशन में राज्य पात्रता परीक्षा (एसईटीसी) उर्त्तीण नहीं की है।

ऐसे कर्मचारियों को हारट्रॉन की ओर से ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग के बाद फरवरी, मार्च एवं अप्रैल में (एसईटीसी) की परीक्षा होगी ताकि इन कर्मचारियों को 30 अप्रैल तक परीक्षा उत्तीर्ण करने का पर्याप्त मौका मिल सके।

एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि यह भी निर्णय लिया गया कि 30 अप्रैल तक कोई पदोन्नति नहीं की जाएगी। इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी विभाग को हरियाणा सिविल सचिवालय तथा न्यू हरियाणा सिविल सचिवालय, सेक्टर-17, चंडीगढ़ और हारट्रॉन के पंचकूला स्थित कार्यालय में प्रशिक्षण आयोजित करने को कहा गया है।

तीन साल पहले जारी किए गए थे ये निर्देश

गौरतलब है कि 7 नवम्बर, 2013 को जारी निर्देशानुसार सीधी भर्ती या पदोन्नति के बाद नियुक्त लिपिकों तथा आशुटंककों के लिए टाइप परीक्षा के स्थान पर एसईटीसी को सेवा आवश्यकता के रूप में शामिल किया गया था।

इन निर्देशों में यह भी उल्लेख है कि सीधी भर्ती के मामले में उम्मीदवार को एसईटीसी दो वर्ष की परिवीक्षा अवधि, जिसे एक वर्ष और बढ़ाया जा सकता है, में उर्त्तीण करनी होगी।

उन्होंने कहा कि ग्रुप सी में वर्णित श्रेणियों के पदों पर नियुक्त उम्मीदवार को एसईटीसी की परीक्षा उर्त्तीण करने के बाद वेतन वृद्धि की जा सकेगी। नियत समय तक परीक्षा उर्त्तीण न करने वालों को इसका लाभ नहीं मिल सकेगा।

जिन कर्मचारियों को लिपिक या आशुटंकक के पद पर पदोन्नत किया गया है उन्हें भी एक वर्ष की परिवीक्षा अवधि जिसे एक वर्ष और बढ़ाया जा सकता है, के भीतर एसईटीसी उर्त्तीण करनी होगी और ऐसा न करने पर उन्हें पदावनत कर दिया जाएगा।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!