7:37 am - Tuesday January 23, 2018

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग और हरियाणा सरकार हुई बेनकाब

अब हरियाणा के बेरोजगार युवा समझ गये है कि ये सरकार जानबूझकर सरकारी नौकरियों की भर्तीयों को लेट कर रही हैं, कुछ भर्तीयों पर मामुली से आधारहीन केस है, जिनकी सरकार कोर्ट में सही तरीके से पैरवी नही कर रही है,जिससे भर्तियां लटकी हुई है और जब लिखित परीक्षा पास करके इंटरव्यू दे चुके कंडीडेट मुख्यमंत्री या हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग चैयरमेन के पास जाते हैं तो वो लोग कोर्ट केस का बहाना करके अपना पल्ला झाड़ लेते हैं जबकि कोर्ट में सही ढ़ंग से पैरवी करके भर्ती से स्टे हटवाने का सरकार का ही काम हैं, पढे लिखे बेरोजगार युवा ये बात अच्छी तरह से जानते है फिर भी सरकार युवाओं को बेवकूफ बनाने की नाकाम कोशिश कर रही हैंl

अब दूसरी बात चलो हम मान भी लें कि सरकार कोर्ट केस की वजह से भर्तीयां पूरी नही कर पा रही हैं तो बहुत सी ऐसी भर्तिया भी हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने लटका रखी हैं जिन पर कोई कोर्ट केस नही हैं, ऐसी कई भर्तिया जिनके लिखित परीक्षा का रिजल्ट आ चुका हैं

दस्तावेज सत्यापन की प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी हैं लेकिन हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग उनका इंटरव्यू नही ले रही हैं जानबूझकर उन भर्तियों को लटका रखा हैl अभी 23 दिसंबर से 7 जनवरी तक कोर्ट की छुट्टी हैं इस दौरान अगर हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग चाहे तो उन भर्तियों को पूरा कर सकती हैं जिन पर कोई केस नही हैं, वरना कोर्ट खुलने के बाद तो जो लोग परीक्षा में असफल होंगे उन्हें बेतुके केस करने ही हैंl

लेकिन लगता है फिलहाल सरकार भर्तिया पूरी करना ही नही चाहती क्योंकि कोर्ट की छुट्टी शुरू हुये 6-7 दिन हो चुके हैं और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने कोई नया साक्षात्कार का समय अभी तक जारी नही किया हैं जिससे साफ पता चलता हैं की सरकार खुद भर्तियों को लटकाये रखना चाहती हैं ताकि चुनाव के नजदीक ले जाकर फायदा उठाया जा सकेl

कुछ मेरे पढे लिखे दोस्त जो कई सालों से हरियाणा में सरकारी नौकरी के लिये संघर्ष कर रहे हैं वो कुछ दिन पहले कह रहे थे की कोर्ट की छुट्टी शुरू होते ही सरकार ऐसी भर्तियों का तेजी से रिजल्ट जारी करेगी जिन पर अभी तक कोई केस नही हैंl और वो भर्तियां भी जिनकी दस्तावेज सत्यापन हो चुकी है उनका कोर्ट की छुट्टियों दौरान इंटरव्यू लेकर रिजल्ट जारी करके जल्दी से जल्दी जोइनिंग देगीl लेकिन ऐसा कुछ नही हुआ अब सरकार के इरादे साफ नजर आ रहे हैं, ये सरकार बेरोजगार युवाओं के सामने बेनकाब हो चुकी हैं, ये हरियाणा की भाजपा सरकार सरकारी नौकरियों की भर्तीया पूरी करना ही नही चाहती, कोर्ट केस तो एक बहाना हैंl

चलते चलते एक बात और बता दूं अगर भाजपा वाले ये सोचते हैं कि तीन चार साल भर्तियां लटका कर चुनाव के नजदीक युवाओं को नौकरी दे कर उनसे वोट लूट लेंगे, तो वो अपना ये वहम निकाल दें अब हरियाणा का युवा सब समझता हैंl जिस उम्मीद के साथ हरियाणा के बेरोजगार युवाओं ने 2014 में भाजपा को वोट दिया था वो उम्मीद अब टूट रही हैं समय बहुत कम है इस उम्मीद को टूटने से बचा लो तुरंत संज्ञान लेकर भर्तीयां पूरी करो ताकि 2019 मैं भी युवा वर्ग आपको वोट देंl

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

कृप्या कर के अगर आपको पोस्ट अच्छी लागे तो शेयर जरूर करे जिससे किसी बेरोजगार भाई-बहन की मदद हो सके” तथा काम करने वाली टीम का हौसला बढ़े |

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!