8:59 pm - Friday December 9, 2016

हरियाणा राज्य सरकार की विभिन्न योजनाएं –

haryana-govt-social-welfare-schemesआपकी बेटी हमारी बेटी :- हरियाणा सरकार ने लिंगानुपात में सुधार लाने और समाज में लडकियों की स्थिति मजबुत करने के , उनके स्वास्थ और शिक्षा की व्यवस्था को सुद्रढ़ बनाने के लिए 8 मार्च, 2015 को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हरियाणा के मुख्यमंत्री हरियाणा द्वारा ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ योजना की तर्ज पर ‘आपकी बेटी हमारी बेटी’ (Apki Beti Hamari Beti) योजना का शुभारंभ किया गया

स्वधार गृह :- हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 18 अक्टूबर 2015 को ‘स्वधार गृह’ नामक योजना को स्वीकृति प्रदान की है. इस योजना का उद्देश्य कठिन परिस्थितियों में पीड़ित महिलाओं के लिए सहायक संस्थागत फ्रेमवर्क तैयार करना है

पशुधन बीमा योजना :- हरियाणा सरकार ने 29 जुलाई 2016 को राज्य में पशुधन बीमा योजना लागू किया है. हरियाणा के कृषि, पशुपालन एवं डेयरी विभाग मंत्री ओमप्रकाश धनखड़ ने बहुतकनीकी संस्थान के प्रांगण में इस योजना का शुभारंभ किया है. अब किसान भी इंसान, फसलों की तरह पशुओं का भी बीमा करा सकेंगे.

थारी पेंशन थारे पास’ पेंशन योजना :- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 4 अगस्त 2015 को ‘थारी पेंशन थारे पास’ नाम से पेंशन योजना की चंडीगड़ में शुरुआत की. इस योजना के अंतर्गत प्रथम चरण में पेंशन का वितरण 1744 गांवों व सभी 81 शहरी क्षेत्रों में बैंकों, डाकघरों के माध्यम से शुरू किया गया.

म्हारा गांव जगमग गांव योजना :- मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 1 जुलाई 2015 को योजना की शुरुआत कुरुक्षेत्र जिला के दयालपुरा गांव से शुरू की, जिसका मुख्य उद्देश्य उपभोक्ताओं को बिजली चोरी करने से रोकना तथा उन्हें अपने वर्तमान और बकाया बिजली बिलों के भुगतान के लिए प्रेरित करना है

कौशल विकास योजना :- युवाओं के कौशल विकास को बढ़ावा देना

ताऊ देवी लाल वृद्धावस्था पैंशन :- सामाजिक संरक्षण एवंम् सुरक्षा

इन्दिरा आवास योजना :- गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहे पीला एवं गुलाबी कार्डधारी परिवारों को रिहायशी मकान के लिए सहायता।

राष्ट्रीय मातृत्व लाभ योजना :- गर्भवती महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान कुपोषण से बचाव हेतू खुराक के लिए सहायता राशि प्रदान करना।

देवी रूपक :- राज्य में जनसभा नियंत्रण, लिंग अनुपात को उचित बनाए रखना व एक बच्चे तक तक परिवार सीमित करने अथवा अधिकतम दो बच्चों में अन्तर रखने के लिए उपाय करने पर योग्य दम्पत्तियों को मासिक प्रोत्साहन राशि प्रदान कर उत्साहर्वद्धन करना।

स्वजल धारा योजना :- गांव के हर घर में पीने का पानी उपलब्ध करवाना तथा उसके रखरखाव व प्रबन्धन के खर्च को स्वंय गांव वासियो द्वारा वहन कर आत्मनिर्भर बनना।

लाडली योजना :- लाडली योजना वर्ष 2005 में मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुडडा द्वारा लिंगानुपात को कम करने और कन्या भ्रूण हत्या जैसे सामाजिक अपराध को रोकने के लिए शुरू की गई थी।

कृप्या अगर आपको हमारी यह article/post पसंद आए तो like and share on facebook :-www.fb.com/dainikexpress

Filed in: Haryana GK, Uncategorized

No comments yet.

Leave a Reply

*
error: Content is protected !!