10:59 pm - Wednesday February 22, 2017

जाट आरक्षण मामले पर हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, सरकार और जाटों को नहीं मिली राहत

जाट आरक्षण के मसले पर मंगलवार को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट में आज यादव महासभा के वकील की एप्लीकेशन पर बहस की गई. लेकिन जाटों और सरकार दोनों को ही आज की बहस में भी किसी तरह की कोई राहत नहीं मिल पाई है.

दरअसल पीछली सुनवाई में यादव महासभा के वकील ने एप्लीकेशन दायर कर मामले को दूसरी बेंच में ट्रासफर करने की मांग थी. जिस पर आज बहस की गई. मामले की अगली सुनवाई अब बुधवार को होगी तब तक आरक्षण पर यथास्तिथि बनी रहेगी.

हरियाणा सरकार ने जाट आंदोलन के बाद ने आरक्षण की घोषणा कर दी थी. जिसमें जाटों सहित 6 जातियों को आरक्षण ओबीसी के तहत रिजर्वेशन देने का प्रावधान था. इसके इसके खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी.

क्या हैं पिछड़ा आरक्षण नीति

भारतीय के संविधान के अनुच्छेद 15 और 16 में सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े वर्गों के लिए आरक्षण का प्रावधान है. बस शर्त यह है कि ये सिद्ध किया जा जाए कि वे औरों के मुकाबले सामाजिक और शैक्षणिक रूप से पिछड़े हैं. क्योंकि अतीत में उनके साथ अन्याय हुआ है, ये मानते हुए उसकी क्षतिपूर्ति के तौर पर, आरक्षण दिया जा सकता है.

Filed in: News

One Response to “जाट आरक्षण मामले पर हाईकोर्ट में हुई सुनवाई, सरकार और जाटों को नहीं मिली राहत”

  1. sachin
    02/02/2017 at 8:38 am #

    Next hearing kab ki hai sir inki…

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!