5:03 pm - Monday May 29, 2017

एचएसएससी क्लर्क भर्ती परीक्षा नहीं होगा पेपर केन्सल

एचएसएससी क्लर्क भर्ती परीक्षा में पेपर लीक के सबूत नहीं

हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की एसआईटी को जांच के बाद दिसंबर में आयोजित क्लर्क भर्ती परीक्षा में पेपर लीक के कोई सबूत नहीं मिलें । पेपर लीक मामले में आयोग की एसआईटी को जांच के बाद यह पूरा मामला नकल कराने से संबंधित लग रहा है । पेपल लीक मामले की जांच लगभग पूरी हो चुकी है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जल्द ही इस मामले की जांच के लिए बनाई गई एसआईटी अपनी रिपोर्ट हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग के वरिष्ठ अधिकारियों को सौंपने वाली है. यह ‘फाइनल’ रिपोर्ट होगी ।

जांच  में क्लीन चिट :- 

  • एचएसएससी की जांच टीम ने माना नकल माफिया की करतूत
  • आयोग की जांच टीम की रिपोर्ट  के बाद पेपर केन्सल होने की संभावना नहीं होगा पेपर केन्सल
हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग की जांच टीम को दिसंबर के पहले पखवाड़े में हुई क्लर्क भर्ती की लिखित परीक्षा में पेपर लीक के कोई सबूत नहीं मिले। पेपर लीक कांड के आरोप में पुलिस भले ही सात लोगों को अभी

तक गिरफ्तार कर चुकी, मगर आयोग की जांच टीम की नजर में पूरा मामला नकल कराने से जुड़ा है। आयोग की इस रिपोर्ट के बाद क्लर्क की भर्ती परीक्षा रद होने की आशंका खत्म हो गई है। अगले एक दो दिन में आयोग की जांच टीम अपनी रिपोर्ट चेयरमैन को सौंप सकती है। यह पोस्ट आप दैनिक एक्सप्रेस डॉट कॉम के सौजन्य से पढ़ रहे हैं। भिवानी के बीपीएस स्कूल में 11 दिसंबर को क्लर्क भर्ती परीक्षा की दूसरी पारी में आंसर-की मिलने के बाद इन परीक्षाओं की पवित्रता पर सवाल खड़ा हो गया था। प्रदेश सरकार और हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग ने परीक्षा केंद्र में आंसर-की मिलने की दो स्तर पर जांच कराई। सरकार ने एसआइटी बनाई तो आयोग ने तीन सदस्यीय जांच कमेटी का गठन किया, जिसे पूरे मामले की जांच सौंपी गई।

आयोग के चेयरमैन भारत भूषण भारती के निर्देश पर जांच कमेटी ने बीपीएस परीक्षा केंद्र के सभी वीडियो फुटेज और रिकार्ड की जांच की। अन्य परीक्षा केंद्रों के फुटेज और रिकार्ड भी खंगाले, जिसके आधार पर माना गया कि पेपर लीक होने का नहीं, बल्कि नकल कराने का मामला है, जिसमें वर्षो से सक्रिय नकल माफिया शामिल है। जांच टीम का मानना है कि आरोपित व्यक्तियों ने तकनीक के जरिये प्रश्न पत्र हासिल करने के बाद आंसर-की तैयार की और उसे उन परीक्षार्थियों तक पहुंचाया, जिनसे उनकी डील हुई थी। नकल कराने के इस धंधे में पूरा रैकेट शामिल है। सूत्रों के अनुसार एसआइटी भी जांच में जुटी है, लेकिन आयोग की जांच टीम की रिपोर्ट आने के बाद एसआइटी की रिपोर्ट के अधिक मायने रह जाने की संभावना नजर नहीं आ रही है।’
आयोग की जांच टीम की रिपोर्ट के बाद परीक्षा रद होने के आसार नहीं: पदों के लिए हुई थी परीक्षा लाख युवा हुए थे शामिल मुङो जानकारी मिली है कि जांच टीम ने अपना काम लगभग पूरा कर लिया। अगले कुछ दिनों में रिपोर्ट आने वाली है। रिपोर्ट पढ़े बिना कुछ भी टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी। मैं यह बात दावे से कह सकता हूं कि परीक्षाओं की पवित्रता और पारदर्शिता बनाने का जो एजेंडा हमने तय किया है, उससे खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। – भारत भूषण भारती, चेयरमैन, हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग

 

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!