10:31 pm - Wednesday May 23, 2018

Do You Know? ट्यूशन से चलता है इस CM का घर, इस वजह से नहीं की शादी

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर इन्होंने 23 साल की उम्र में आरएसएस ज्वाइन किया था और तभी ताउम्र कुंवारे रहने का प्रण भी लिया था। हर नेता की अपनी खासियत होती है। कोई बेहतरीन वक्ता होता है तो कोई अपने स्वभाव से दिल जीत लेता है।

ट्यूशन फीस है कमाई का जरिया

– 2014 के हरियाणा विधानसभा चुनाव में खट्टर अपने गढ़ करनाल से जीते थे। लगभग 37 साल के पॉलिटिकल करियर के बावजूद इनकी कुल संपत्ति 61 लाख रुपए थी।
– चुनावी हलफनामे के मुताबिक खट्टर की सोर्स ऑफ इनकम ट्यूशन और खेती है।
– रोहतक में इनके खेत हैं, जिनकी कुल कीमत 50 लाख रुपए है। ये खेत इन्हें पिता हरबंस लाल खट्टर से विरासत में मिले थे।
– रोहतक में ही इनका 150 स्क्वैयर यार्ड में फैला पैतृक मकान है, जिसकी कीमत 3 लाख रुपए है।

ग्रैजुएशन के साथ चलाते थे दुकान

– खट्टर का जन्म रोहतक जिले के निनदाना गांव में हुआ था। इनके पिता हरबंस लाल खट्टर किसान थे।
– इनका रुझान शुरुआत से ही पढ़ाई की ओर था। रोहतक के पंडित नेकी राम शर्मा सरकारी कॉलेज से मैट्रिक पास करने के बाद आगे की पढ़ाई के लिए ये दिल्ली चले गए थे।
– दिल्ली यूनिवर्सिटी में ग्रैजुएशन के दौरान ही ये दिल्ली के सदर बाजार में एक छोटी सी दुकान चलाते थे, जिससे पढ़ाई का खर्च निकल सके।

60 की उम्र में लड़ा पहला चुनाव, जीतते ही बने थे CM

– मनोहर लाल खट्टर 23 की उम्र में RSS प्रचारक बनने के बावजूद इन्होंने करियर का पहला चुनाव साल 2014 में लड़ा था। बीजेपी ने इन्हें करनाल से प्रत्याशी बनाया था।

– इन्हें 82485 वोट मिले थे, जबकि मुकाबले में दूसरे नंबर पर रहे INLD के प्रत्याशी मनोज वाधवा को कुल 17,685 लोगों ने वोट दिया था।

– ये पहली बार चुनाव लड़कर जीते भी थे और साथ ही सीएम पद से भी नवाजे गए थे।

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र  दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

 

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!