8:09 am - Monday September 25, 2017

चेकिंग के दौरान महिलाओं से उतरवाए गहने, हाजिरी लगाते समय लैपटॉप में आई खामी

हरियाणा स्टाफ सलेक्शन कमीशन की ओर से रविवार काे आयोजित ट्रेसर पद की लिखित देने आए विभिन्न जिलों के परीक्षार्थियों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा। रेलवे रोड स्थित राजकीय महिला कॉलेज परीक्षा केंद्र में परीक्षा के बाद परीक्षार्थियों की बायोमीट्रिक हाजिरी लगाते समय लैपटॉप में तकनीकी खराबी आ गई। जिस कारण परीक्षार्थियों को 12 बजे परीक्षा खत्म होने पर एक बजे तक परीक्षा केंद्र में ही बैठाकर रखा।

12 बजे तक परीक्षा केंद्र से परीक्षार्थियों के बाहर न निकलने पर उनके परिजनों ने परीक्षा केंद्र के बाहर ही प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। इसके बाद परीक्षा केंद्र से एक कर्मचारी ने उन्हें समस्या के बारे में बताया, लेकिन परीक्षार्थियों के परिजन नहीं माने और वह परीक्षा केंद्र में अंदर घुस कर सुपरिंटेंडेंट से मिले। इसके बाद परीक्षार्थियों की दूसरे लेपटॉप में बायोमीट्रिक हाजिरी लगाई गई। दूसरी ओर एचएसएससी की अव्यवस्था के कारण दुकानदार परीक्षार्थियों की जेब पर डाका डाल रहे हैं। परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थियों का सामान रखने की जगह न होने के कारण परीक्षा केंद्र के पास के दुकानदार 20-20 रुपए में परीक्षार्थियों का बैग अपने पास रखवाए। विभिन्न जिलों से होने के कारण परीक्षार्थियों को मजबूरन दुकानदार के पास 20 रुपए में बैग व अन्य सामान रखना पड़ा। परीक्षार्थियों में एचएसएससी के प्रति रोष बढ़ गया।

6650 में से 2982 परीक्षार्थियों ने ही दी परीक्षा :- ट्रेसर पद की लिखित परीक्षा का समय सुबह 10:30 से 12 बजे तक था। सुबह 10 बजे ही परीक्षा केंद्रों के बाहर परीक्षार्थियों की लंबी लाइन लगनी शुरू हो गई। परीक्षा केंद्र में एंट्री करने से पहले कर्मचारियों ने परीक्षार्थियों की तलाशी ली और उनका सारा सामान बाहर रखवा लिया। रोल नंबर व आईडी के साथ ही परीक्षार्थियों को अंदर जाने दिया। दूसरी ओर महिलाओं से उनके गहने भी उतरवाए गए। ट्रेसर की परीक्षा के लिए 6650 परीक्षार्थियों को आना था, लेकिन 2982 परीक्षार्थियों ने ही परीक्षा दी।

रुपए लेकर दुकानदारों ने रखे परीक्षार्थियों के बैग :- रेलवे रोड स्थित गुरुनानक खालसा कॉलेज परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थियों को बैग, बैल्ट व अन्य सामान रखने की जगह नहीं मिली। जिसका फायदा पास के दुकानदारों ने उठाया और परीक्षार्थियों से कहा कि वह अपना सामान उनकी दुकान पर रख दें, यहां सुरक्षित रहेगा। इसके लिए उन्हें 20 रुपए देने होंगे।

22 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे :- ट्रेसर पद की लिखित परीक्षा के लिए जिले के 17 स्कूल और कॉलेजों में 22 परीक्षा केंद्र बनाए गए थे। इन परीक्षा केंद्रों पर जिला प्रशासन की ओर से तैनात 5 ड्यूटी मजिस्ट्रेट और पांच उड़न दस्ताें ने निरीक्षण किया।

शहर में जाम की बनी स्थिति :- ट्रेसर पद की लिखित परीक्षा के लिए विभिन्न जिलों से परीक्षार्थी आए हुए थे। इससे अलग अास-पास के परीक्षार्थी अपने वाहनों में आए थे। जिस कारण परीक्षा शुरू होने से पहले व परीक्षा खत्म होने पर शहर में कई जगह जाम की स्थिति बन गई। क्योंकि सभी परीक्षार्थी एक साथ ही परीक्षा केंद्र से बाहर निकले थे।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!