1:38 am - Wednesday May 23, 2018

दो दिन में मिलेगा 5 हजार बोनस, 1992 से 2002 तक भर्ती रोडवेज कर्मियों को नियमित करने को सरकार ने मांगे 2 माह

रोडवेज यूनियनों के दबाव में सरकार ने रोडवेज कर्मचारियाें की कई मांगों काे मान लिया है, जिसके चलते वीरवार को प्रस्तावित चक्का जाम का आह्वान भी वापस ले लिया गया है। चंडीगढ़ में परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार डीजी कमिश्नर विकास गुप्ता के साथ रोडवेज यूनियनों के पदाधिकारियों की मीटिंग में कई मुख्य मांगों पर सहमति बन गई। हरियाणा परिहवन कर्मचारी संघ के प्रदेश महासचिव प्रताप सिंह भनवाला ने बताया कि तीन घंटे तक परिवहन मंत्री कृष्ण पंवार के साथ वार्ता चली, जिसमें मुख्य मांगों पर सहमति बन गई है। कर्मचारियों के बोनस के पांच हजार रुपए एक-दो दिन के अंदर खातों में भेजने पर सरकार ने सहमति दी। साथ ही बोनस को पॉलिसी बनाने को लेकर 15 दिन का समय दिया गया है। 1992 से 2002 के कर्मचारियों को नियमित करने के लिए दो माह का समय सरकार ने मांगा है। इसके साथ ही कई अन्य मांगों पर भी सहमति बन गई है। हरियाणा रोडवेज ज्वाइंट एक्शन कमेटी के प्रदेशाध्यक्ष हरिनारायण शर्मा ने बताया कि 2016-17 की पॉलिसी रद्द करवाने को लेकर वार्ता हुई, जिसमें सरकार की ओर से कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट में ऑब्जेक्शन तैयार कर लिया गया है। छुटि्टयां खत्म होने के बाद सुप्रीम कोर्ट में दाखिल कर दिया जाएगा। इसके अलावा 2016 में लगे कर्मचारियों को भी पूरी सैलरी दिए जाने पर सहमति बनी, जिसके चलते ही अब 28 को चक्का जाम की घोषणा वापस ले ली गई है।

सुबह बस स्टैंड पर रोडवेज कर्मियों ने किया प्रदर्शन

बुधवारसुबह रविंद्र सिंह, मुनीष कुमार संजीव कुमार की अध्यक्षता में रोडवेज कर्मचारियों ने मांगों को लेकर प्रदर्शन भी किया। इस मौके पर मनिंद्र सिंह, मेहर सिंह, हरिंद्र सिंह, विजय कुमार, राजकुमार, महेंद्र सिंह, महीपाल राणा, प्रीतपाल, ताराचंद, सुरेश कुमार ज्ञान सिंह आदि मौजूद रहे।

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!