8:34 pm - Monday December 11, 2017

एमडीयू ने की सेंट्रल ऑनलाइन दाखिले के प्रॉस्पेक्टस की तैयारी, इन विषयों की जिम्मेदारी

प्रदेश में इस बार पीजी कोर्सेस के दाखिले सेंट्रलाइज होंगे। सरकार ने सेंट्रल ऑनलाइन एडमिशन की जिम्मेदारी एमडीयू व केयू को सौंपी है। इसके लिए एमडीयू ने प्रॉस्पेक्टस की तैयारी शुरू कर दी है। मई के पहले सप्ताह में प्रॉस्पेक्टस जारी होने की उम्मीद है।

नई व्यवस्था से विद्यार्थियों को न केवल अलग-अलग आवेदन भरने के झंझट से मुक्ति मिलेगी, बल्कि परीक्षा भी एक ही बार देनी होगी। दोनों विवि अपने प्रॉस्पेक्टस जारी करेंगे। सेंट्रलाइज व्यवस्था के तहत सब काम एक ही बार होगा। इसे लेकर एमडीयू कुलपति प्रो. बिजेंद्र कुमार पूनिया ने अपनी तैयारी शुरू करते हुए बुधवार को बैठक की। यहां नए सत्र का प्रॉस्पेक्ट्स जारी करने पर चर्चा हुई। प्रॉस्पेक्ट्स में दाखिला प्रक्रिया की गतिविधियां तय करने का प्रपोजल रखा गया। इसमें आवेदन जारी करने, जमा करने व अंतिम तिथि के साथ परीक्षा का दिन तय करना शामिल है। इसे मंजूरी मिलने के बाद ही अगली कार्रवाई शुरू होगी। वीसी की मंजूरी के बाद प्रॉस्पेक्ट्स छपने के लिए भेजे जाएंगे। इसके बाद परीक्षा होगी, पास उम्मीदवारों को अलग-अलग विश्वविद्यालय अलॉट किए जाएंगे।

एमडीयू व केयू को मिली इन विषयों की जिम्मेदारी :- सेंट्रल ऑनलाइन एडमिशन के तहत एमडीयू को लाइफ साइंस (12 से ज्यादा विभाग) फार्मास्युटिकल साइंस, केमेस्ट्री, फिजिक्स, मैथमेटिक्स की जिम्मेदारी सौंपी है। कुरुक्षेत्र विवि को हिस्ट्री, साइकोलॉजी, जर्नलिज्म एंड मास कम्यूनिकेशन, हिंदी, पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन, ज्योग्राफी, पॉलीटिकल साइंस, सोशलॉजी, इंग्लिश, इकोनॉमिक्स, एमपीएड, एलएलएम, एमबीए, एमकॉम की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके अलावा कंप्यूटर साइंस, स्टेटिस्टिक, संस्कृत, फाइन आर्ट्स, डिफेंस स्टडी व अन्य विषयों में विद्यार्थी पहले की तरह आवेदन करेंगे।

Filed in: Admissions

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!