7:37 am - Tuesday January 23, 2018

रोडवेज भर्ती: एक भाई ने लिखित परीक्षा दी तो ड्राइविंग टेस्ट देने दूसरा पहुंचा

रोडवेज में चालक भर्ती के लिए लिखित परीक्षा किसी और ने दी और ड्राइविंग टेस्ट देने दूसरा युवक आ गया। मामला रेवाड़ी में चल रही भर्ती प्रक्रिया के दौरान का है। फिंगर प्रिंट मैच नहीं होने पर यह फर्जीवाड़ा पकड़ में आया है। रोडवेज महाप्रबंधक की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पकड़ा गया युवक जींद जिला का रहने वाला है। फार्म पर फोटो इसी युवक की लगी हुई है, वहीं बताया जा रहा है कि इससे पहले लिखित परीक्षा उसके भाई ने दी थी। 15 दिन के दौरान यह ऐसा दूसरा केस है। इससे पहले भी 9 दिसंबर को कैथल निवासी एक युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।टेस्ट देने से पहले ही खुलासा…

– जींद जिला निवासी संदीप कुमार ने रोडवेज विभाग में चालक लगने के लिए आवेदन किया था। इसके लिए अगस्त में लिखित परीक्षा भी आयोजित की गई।
– लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण रहने वाले विद्यार्थियों के ड्राइविंग टेस्ट लिए जा रहे हैं। रेवाड़ी वर्कशॉप में भी टेस्ट चल रहे हैं।
– रविवार को संदीप कुमार ड्राइविंग के लिए टेस्ट देने पहुंचा। यहां फार्म की चेकिंग के दौरान फिंगर प्रिंट्स भी जांच की गई। लेकिन संदीप के फिंग प्रिंट उस फिंगर प्रिंट से मैच नहीं किए जो कि लिखित परीक्षा के दौरान लिए गए थे।
– रोडवेज महाप्रधंक लाजपत राय ने कहा कि फिंगर प्रिंट मैच नहीं का अर्थ है कि लिखित परीक्षा में कोई बैठा था।
– एचएसएससी प्रतिनिधियों को इस बात से अवगत कराया गया। इसके बाद पुलिस को कानूनी कार्रवाई के लिए लिख दिया गया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।
– जगनगेट चौकी से ईएएसआई रामकिशन ने बताया कि शिकायत पर धोखाधड़ी की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!