8:31 pm - Monday December 11, 2017

प्रदर्शन कर रहे चयनित जेबीटी टीचर्स को पुलिस ने हिरासत में लिया, SDM कोर्ट ने छोड़ा

महेंद्रगढ़ के लघु सचिवालय पर शुक्रवार को प्रदर्शन कर रहे चयनित जेबीटी टीचर्स को पुलिस ने हिरासत में ले लिया और शांति भंग करने के आरोप में एसडीएम कोर्ट में पेश किया। हालांकि एसडीएम कोर्ट ने उन्हें छोड़ दिया। टीचर्स जहां प्रदर्शन कर रहे थे, वहां गुरुवार रात को तहसीलदार द्वारा नोटिस लगाया गया था कि चयनित टीचर्स बिना अनुमति के प्रदर्शन कर रहे हैं। इससे कानून व्यवस्था बिगाड़ सकती है, ऐसे में उन्हें वहां प्रदर्शन करने से मना किया गया था। ढोल बजाते हुए शिक्षा मंत्री के आवास की तरफ निकले तो पुलिस ने किया गिरफ्तार….

  • गौरतलब है कि गुरुवार को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने 9455 चयनित जेबीटी टीचर्स की नियुक्ति पर लगी रोक को हटा दिया था।
  • इसके कारण पिछली 16 अप्रैल से महेंद्रगढ़ में प्रदर्शन कर रहे चयनित जेबीटी टीचर्स शुक्रवार को बड़ी संख्या में धरनास्थल पर पहुंचे थे।
  • धरनास्थल पर तहसीलदार द्वारा धरना न देने का नोटिस लगा रखा था लेकिन इसके बाद भी वे वहां बैठकर धरना दे रहे थे।
  • दोपहर 2 बजे जैसे ही चयनित टीचर्स ढोल बजाते हुए शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा के आवास की तरफ बढ़े तो पुलिस ने उन्हें बसों में बैठा लिया और हिरासत में ले लिया।
  • उन्हें शांति भंग करने के आरोप में एसडीएम कोर्ट में पेश किया गया। वहां एसडीएम ने मामले को निरस्त करते हुए छोड़ दिया।
  • एसडीएम का कहना है कि चयनित जेबीटी टीचर्स ने आश्वासन दिलाया है कि वे शांति भंग नहीं करेंगे, जिसके बाद उनके मामले को निरस्त करते हुए छोड़ दिया गया है।

शिक्षा मंत्री को वायदा याद दिलाने जा रहे थे-चयनित जेबीटी- चयनित जेबीटी शिक्षकों का कहना है कि वे शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा को उनका वायदा याद दिलाने के लिए जा रहे थे। शिक्षामंत्री ने उन्हें वायदा किया था कि कोर्ट की प्रक्रिया पूरी होने के 24 घंटे के अंदर उनकी नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी, लेकिन गुरुवार दोपहर 2 बजे से शुक्रवार दोपहर 2 बजे तक कोई प्रक्रिया शुरू नहीं हुई।

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!