6:55 pm - Thursday April 19, 2018

एमडीयू की परीक्षा में सेंध, पेपर शुरू होने से पहले ही बिकी प्रश्नों की बुकलेट

महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय (एमडीयू) की परीक्षाओं पर एक बार फिर सवाल उठे हैं। परीक्षा से कुछ घंटे पहले प्रश्नों की हुबहू बुकलेट परीक्षा केंद्र के पास बिकती मिली। खास बात यह है कि करीब दस पेज की जो बुकलेट बेची जा रही थी उसमें पेपर के छह प्रश्न भी ज्यों के त्यों मिले।

मदवि के अंतर्गत आने वाले कॉलेजों में शुक्रवार को बीए पॉलिटिकल साइंस द्वितीय सेमेस्टर से लेकर बीएससी चतुर्थ सेमेस्टर जूलॉजी समेत चार विषयों के पेपर थे। बीएससी चतुर्थ सेमेस्टर जूलॉजी के लाइफ एंड डाइवरसिटी ऑफ कोरडेट्स का पेपर ढाई बजे शुरू होना था, लेकिन पेपर शुरू होने से करीब डेढ़-दो घंटा पहले जाट कॉलेज के नजदीक फोटोस्टेट की दुकान पर बुकलेट बिकनी शुरू हो गई थी।

फोटो स्टेट की दुकानों पर इन्हें खरीदने के लिए छात्रों की भारी भीड़ लगी हुई थी। जिसके एवज में छात्रों से 50 रुपये से लेकर 300 रुपये तक वसूले जा रहे थे। दुकानदार भी पूरे दावे के साथ छात्रों को कह रहे थे कि कि पेपर में इसी बुकलेट से प्रश्न आएंगे। शाम साढ़े पांच बजे के बाद पेपर खत्म हुआ। इसके बाद पेपर और बुकलेट में दिए गए प्रश्नों को मिलान किया गया। जिससे परीक्षाओं पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

कुछ ऐसे मिले बुकलेट में प्रश्न

करीब दस पेज की बुकलेट में 12 प्रश्न दिए गए थे, लेकिन हैरानी की बात यह थी कि जब पेपर का मिलान किया तो छह प्रश्न हूबहू इस बुकलेट में मिले। पेपर की यूनिट दो में प्रश्न नंबर चार हेमीडैक्टीलस के श्वसन प्रणाली का वर्णन कीजिए था। चार नंबर का यह प्रश्न बुकलेट में भी था।

इसी यूनिट में प्रश्न नंबर पांच था वर्गस्तर तक वर्ग रेप्टिलीया का वर्गीकरण कीजिए, प्रत्येक समूह की विशेषताएं एवं उदाहरण दीजिए। खास बात यह थी कि साढ़े सात नंबर का ये बड़ा प्रश्न भी बुकलेट में मिला। इसी तरह यूनिट तीन में प्रश्न नंबर आठ चूहे के मादा प्रजनन प्रणाली का सविस्तार वर्णन कीजिए। यह प्रश्न भी साढ़े सात नंबर का था, जो बुकलेट में मिला। इसके अलावा पांच अन्य प्रश्न भी बुकलेट में पाए गए।

परीक्षा नियंत्रक बोले- जानकारी में नहीं है मामला

एमडीयू के परीक्षा नियंत्रक डॉक्टर बीएस सिंधु का कहना है कि ऐसा कोई मामला मेरी जानकारी में नहीं है। परीक्षा से पहले प्रशासन को पत्र भेज दिया गया था कि फोटो स्टेट की दुकानों को बंद करा दिया जाए। फोटो स्टेट की दुकानें बंद क्यों नहीं कराई जा रही इसके बारे में दोबारा से पत्र भेजा जाएगा। परीक्षा में सेंध का कोई मामला नहीं है।

यह खबर आप हिन्दी रोजगार समाचारपत्र  दैनिक एक्स्प्रेस वेबसाइट के द्वारा पढ़ रहे है।

कृप्या अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आए तो ज्यादा से ज्यादा शेयर एवम् लाइक करे:-www.fb.com/dainikexpress

हम खबरें छिपाते नहीं छापते है।

 

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!