5:04 pm - Saturday March 25, 2017

टूटे सारे रिकॉर्ड, एमटीएस के लिए 70 लाख आवेदन

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की मल्टी टास्किंग स्टाफ (एमटीएस) भर्ती 2016 में आवेदन के सारे रिकॉर्ड टूट गए। इसके लिए देशभर से लगभग 70 लाख आवेदन हुए हैं। आवेदकों की संख्या के लिहाज से यह एसएससी की अब तक की सबसे बड़ी भर्ती होगी।

एमटीएस 2016 के लिए तीन फरवरी को शाम पांच बजे तक आवेदन लिए गए। 70 लाख की संख्या अनुमानित है। आवेदकों की सही स्थिति एक-दो दिन में पता चलेगी। वैसे माना जा रहा है कि संख्या इससे कम नहीं बल्कि ज्यादा ही होगी। एमटीएस के लिए लिखित परीक्षा 16 एवं 30 अप्रैल तथा सात मई को प्रस्तावित की गई है। यूं तो एसएससी की परीक्षाएं अब ऑन लाइन ही हो रही हैं पर यह परीक्षा ऑफलाइन यानी ओएमआर आधारित होगी।

8300 पदों पर होगी भर्ती :- एमटीएस 2016 में 8300 पद हैं। इनमें से 325 पद एसएससी मध्य क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले यूपी और बिहार के हैं। यूपी के अंतर्गत आने वाले केंद्रीय दफ्तरों में एमटीएस के 235 और बिहार में स्थित दफ्तरों में 90 पदों पर भर्ती की जाएगी। बाकी पद एसएससी के अन्य क्षेत्रीय कार्यालयों के हैं। स्पष्ट है कि इस भर्ती में एक पद के लिए लगभग 844 दावेदार होंगे।

ग्रुप ‘सी का पद है एमटीएस :- एमटीएस केंद्रीय दफ्तरों में ग्रुप ‘सी का पद है। इसका सृजन छठवें वेतन आयोग की संस्तुतियों पर किया गया था। सातवें वेतन आयोग की संस्तुति पर इस पद का वेतनमान पुनरीक्षित करते हुए 5200-20200 और ग्रेड पे 1800 रुपये कर दिया गया है।

बीटेक-एमटेक भी करते हैं आवेदन :- ग्रुप ‘सी के इस पद की शैक्षिक अर्हता हाईस्कूल पास है लेकिन इसके लिए बड़ी संख्या में बीटेक और एमटेक पास भी आवेदन करते हैं। एमटीएस की पिछली भर्तियों में ऐसा देखा गया है।

सीएचएसएल में हुए थे सर्वाधिक आवेदन :- एसएससी की अभी तक की भर्तियों में सबसे अधिक 6409965 आवेदन संयुक्त हायर सेकेंड्री स्तरीय भर्ती 2016 (सीएचएसएल) के लिए हुए थे। इस भर्ती के पहले चरण की ऑनलाइन परीक्षा इन दिनों चल रही है। परीक्षा आठ फरवरी तक चलेगी। इसमें 18 लाख आवेदक यूपी और बिहार के हैं। मध्य क्षेत्र के क्षेत्रीय निदेशक राहुल सचान ने बताया कि एमटीएस में मध्य क्षेत्र के आवेदकों की संख्या एक-दो दिन बाद ही पता चल सकेगी। वैसे अभी तक की भर्तियों में आवेदकों का एक बड़ा हिस्सा मध्य क्षेत्र का होता है।

Filed in: Jobs

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!