9:35 pm - Friday April 28, 2017

सफलता के लिए पता करें विफलता का कारण

कई बार कुछ युवाओं को बार-बार कोशिशों के बाद भी निराशा का सामना करना पड़ता है। ऐसा केवल पढ़ाई में ही नहीं होता, बल्कि यह दुविधा जॉब के दौरान भी आती है।

सफलता के लिए पता करें विफलता का कारण

इस स्थिति में व्यक्ति कई बार परिस्थितियों का नजरअंदाज कर देता है लेकिन बार-बार ऐसा होने पर वह सोचता है कि कैसे इनसे उभरा जाए। जानते हैं ऐसे ही बातों या बिंदुओं के बारे में जो नकारात्मकता का कारण बनती हैं-

वातावरण को बनाएं खुशनुमा :- व्यक्ति के आस-पास का माहौल उसमें सकारात्मक विचारों को जन्म देता है। इसलिए अपने आस-पास के माहौल को ऐसा बनाएं जो खुशनुमा हो। यह तभी संभव होगा जब तनाव की स्थिति न हो। इसलिए सबसे पहले तो हर परिस्थिति को सुलझाकर ही आगे बढ़े और तनाव से दूर रहकर वातावरण को खुश रखें। ऑफिस के वातावरण में कभी-कभार छोटा सा गेट-टुगेदर भी वहां के माहौल को प्रबल बनाता है।

प्रोत्साहन से होता है लाभ :- अच्छे काम के लिए प्रोत्साहन व्यक्ति को और ज्यादा अच्छा करने के लिए प्रेरित करता है। यह बात हर जगह लागू होती है चाहे फिर वह ऑफिस की बात हो या घर की।

बार-बार यदि आपको विफलता के दौरान कोई कहे कि कोई बात नहीं सब सही होगा, तो यह काफी तसल्ली देता है। इसलिए थोड़े प्रयास के लिए भी सामने वाले को प्रोत्साहित करना न भूलें।

तनाव का करें मुकाबला :- तनाव हर काम को बिगाडऩे की जड़ माना जाता है। यह व्यक्ति की मानसिक व शारीरिक दोनों स्थितियों को प्रभावित करता है। आपके घर में किसी कारण से तनाव की स्थिति है तो हो सकता है कि इसी वजह से आपको पढ़ाई और जॉब के दौरान विफलता का सामना करना पड़ता हो।

ऐसे में जरूरी है कि जिस भी बात को लेकर तनाव है उसे सबसे पहले सुलझाने की कोशिश करें वर्ना हो सकता है यह आपकी सेहत पर भी बुरा असर डाले और आपकी पर्सनल के साथ-साथ प्रोफेशनल लाइफ में परेशानियां बढ़ा दे।

सपोर्ट जरूरी है :- पढ़ाई, जॉब या किसी भी अवस्था में पारिवारिक समर्थन काफी समस्याओं को दूर कर देता है। कई लोग ऐसे हैं जिन्हें ऑफिस में तनाव का सामना करना पड़ता है और घर आकर सुकून मिलता है।

वे काम के बोझ को भूल बैठते हैं। परिवार के सदस्यों को हर स्थिति में सपोर्ट करें ताकि व्यक्ति अधिक तनाव में न जा सके और बार-बार की असफलता को आसानी से पार कर सके।

 

Filed in: Career Guide, Exam Guide

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!