8:39 pm - Monday December 11, 2017

अनोखा आदेश- टीचर्स मेले में पुजारी बनकर पूजा पाठ करें, जानिए फिर क्या हुआ?

एक अनोखा सरकारी आदेश जारी हुआ कि कपालमोचन मेले में टीचर्स पूजा पाठ करेंगे और प्रसाद बांटेंगे। यह सुनकर अध्यापक भड़क गए और कड़ी निंदा की। मामला हरियाणा के यमुनानगर का है। जिला प्रशासन की ओर से शिक्षा विभाग को पत्र लिखकर अध्यापकों को पुजारी की डयूटी की ट्रेनिंग में भेजने को कहा गया है। जिसके तहत गुरुजी मेले में पुजारी के रूप में नजर आएंगे। इसके लिए अध्यापकों को बाकायदा पूजा-पाठ करने व पुजारी के क्रिया-कलापों की ट्रेनिंग दी जाएगी।

वहीं इस अनोखे आदेश का अध्यापक संघों ने कड़ा विरोध किया है। कपालमोचन मेले में हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु आते हैं। ये श्रद्धालु कपालमोचन, ऋणमोचन व सूरजकुंड में बने मंदिरों में माथा टेकते हैं। ये मंदिर श्राइन बोर्ड के अधीन आते हैं। मंदिरों में लाखों का चढ़ावा चढ़ाया जाता है। मंदिरों में नियुक्त पुजारियों को बोर्ड की ओर से बाकायदा वेतन दिया जाता है।

कपालमोचन मेला प्रशासक की ओर से जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को इस संबंध में लैटर लिखकर अध्यापकों को कपालमोचन के मंदिरों में पुजारी की डयूटी के लिए लगने वाले प्रशिक्षण शिविर में भेजने को कहा गया था। यह शिविर 29 अक्टूबर को लगाया गया था, लेकिन इस शिविर में अधिकतर अध्यापक नहीं पहुंचे। इस पर मेला प्रशासक की ओर से जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी को पुन: लैटर लिखकर अध्यापकों को दोबारा प्रशिक्षण शिविर में भेजने व प्रशिक्षण शिविर में न आने वाले अध्यापकों के विरुद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई करने को कहा गया है।

Filed in: News

No comments yet.

Leave a Reply

*

error: Content is protected !!