1:24 pm - Thursday December 8, 2016

Wrestler sushil kumar diet in hindi

Wrestler sushil kumar diet in hindiWrestler sushil kumar diet in hindi – sushil kumar wrestler daily diet – sushil kumar wrestler workout

लंदन ओलिंपिक में टीम इंडिया के ध्वजवाहक, यानी तिरंगा लेकर टीम की अगुवाई करने वाले खिलाड़ी हैं, पहलवान सुशील कुमार। वहां गोल्ड मेडल जीतने के दावेदार सुशील कुमार शाकाहारी हैं। वह बहूत ही सिम्पल डायट लेते हैं। अगर आप सोचते होंगे कि सूमो पहलवान, फ्रीस्टाइल रेसलर्स या फिर पावरलिफ्टर्स की तरह बहुत ज्यादा डायट लेते होंगें तो आप भूल कर रहे हैं। पहले जब दंगल होते थे तो हमारे पहलवान बहुत ज्यादा घी, बादाम और दूध लेते थे या फिर मांसहारी बड़ी मात्रा में चिकन या मीट खाते थे, लेकिन मॉडर्न रेसलिंग में पहलवानों को अपने वजन पर कंट्रोल रखने के लिए सीमित और संतुलित डायट लेनी पड़ती है।

लंदन ओलिंपिक में हमारी सबसे बड़ी मेडल होप सुशील कुमार की डेली डायट पर अगर आप नज़र डालेंगे तो पाएंगे कि मॉडर्न रेसलिंग में डायट पर ज्यादा जोर नहीं, बल्कि मेहनत और तकनीक पर दिया जाता है।

प्रैक्टिस के बीच में
सुबह प्रैक्टिस से पहले या फिर बीच में सुशील 150 से 200 ग्राम मक्खन लेते हैं। ज्यादा गर्मी हो तो ग्लूकोज़ भी ले ले लेते हैं। 200 ग्राम बादाम गिरी। दूध सुबह और शाम मिलाकर 2 से ढाई किलो के करीब। दोपहर में तीन रोटी और मक्खन, सलाद और सीज़नल फल लेते हैं। सुबह शाम दो-दो ग्लास फलों का जूस। अपने वजन पर कंट्रोल रखने के लिए अपनी डायट पर बहुत ध्यान रखना पड़ता है। सुबह डेढ़ घंटे और शाम को तीन घंटे प्रैक्टिस करते हैं।

सप्ताह में तीन दिन फुटबॉल, बॉस्केटबॉल, वॉलिबॉल या हैंडबॉल खेलते हैं। वह फुटबॉल और बॉस्केटबॉल के बेहतरीन खिलाड़ी हैं। फुटबॉल खेलते देख कर आप कह सकते हैं कि किसी स्टार खिलाड़ी से वह कम नहीं हैं। उनकी शूटिंग, बॉल कंट्रोल और स्पीड देख कर आप कह सकेंगे कि उन्हें नैशनल टीम में होना चाहिए। वह हमेशा खुशमिजाज और टेंशन फ्री रहते हैं। रागिनी और लोकगीत उन्हें बहुत पसंद हैं। वह खुद भी गुनगुनाते रहते हैं। मां के हाथ का बनाया हुआ मक्खन तो उन्हें बहुत पसंद है। फिल्म देखने का उन्हें शौक नहीं हैं। वह पूरी तरह कुश्ती को समर्पित हैं। खाली समय में लैपटॉप पर अपनी कुश्तियों को देख कर अपनी गलतियों की ओर ध्यान देते हैं। साथ ही दुनिया के स्टार पहलवानों की तकनीक और स्टाइल को स्टडी करते हैं। लंदन ओलिंपिक में मेडल जीतने के लिए उनकी पत्नी सवी सोलंकी भगवान से दुआ मांगती हैं और पूजा अर्चना कर रही हैं। आज पूरा देश यही दुआ मांग रहा है कि इस बार सोना ही ले कर स्वदेश लौटें।

Filed in: Uncategorized

No comments yet.

Leave a Reply

*
error: Content is protected !!